45

The First n Foremost Word of the World

23

अध्यात्म्



” दिव्य दर्शन ” पेज का उद्देश्य सभी लोगो तक भारतीय आर्ष ज्ञान, परंपरा , भारितीय संस्कृति , योग और आयुर्वेद , व भारतीय जीवन दर्शन पहुचाना है , जिससे सभी व्यक्ति स्वस्थ, समृद्ध और सुखी रह सके I 

सभी व्यक्ति स्वस्थ , समृद्ध और आनंदित रहे ,तथा सामाजिक , व्यक्तिगत , व्यावासिक एव अध्यात्मिक जीवन भी अच्छा रहे यही दिव्य भारत पेज का उदेश्य है 

व्यक्ति अपने जीवन में कोई भी कर्म करता है तो उसका उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ आनंद और सुख लेना होता है लेकिन लम्बी अवधी में सिर्फ वही सुखी रह सकता है जिसका जीवन अध्यात्मिक है 

आध्यात्मिकता – जो अपने जीवात्मा को जनता है , अपने आप को जनता है , जो स्वयं के बारे सोचने के लिए थोरा समय निकलता है और वही कम करता है जो उसकी आत्मा कहती है I वही व्यक्ति अध्यात्मिक है 

धार्मिकता – वही व्यक्ति धार्मिक है जिसके जीवन का कुछ उद्देश्य है और वह सत्य की रक्षा के लिए जी रह़ा है

भारतीय संस्कृति – आप स्वयं को कैसे समृद्ध बना सकते है , सुखी रख सकते है , जीवन को आनंदमय बना सकते है यही भारितिये संस्कृति है I भारतीय संस्कृति जीवन जीने का एक तरीका है जो दुनिया में सबसे अच्छा और खुबसूरत है

वसुधैव कुटुम्बकं ” ही भारतीय संस्कृति की मूल धरा है I

21

Meditation

एक भारत श्रेष्ढ भारत
समृद्ध भारत सुखी भारत
सत्य भारत अनोखा भारत
हमारा भारत अखंड भारत
हम सबका भारत दिव्य भारत
दिव्य भारत देदीप्यमान भारत
युवाओ से भरा भारत दिव्य भारत
भगवन में रत भारत दिव्या भारत
दिव्या भारत जय भारत

24

Spirituality Joins Everythings

Om Shanti

The First and Foremost Priority of Everyone